बच्चों के लिए अतिरिक्त पाठयक्रम गतिविधियों की जानकारी, जो उनके बेहतर कैरियर के निर्माण में सहायक होंगी !

0
534
extra curricular activities for kids that can help in building their career

अगर हम वास्तविकता के आधार पर देखें तो शिक्षा का एक ही अर्थ है ‘सम्पूर्ण विकास’, और यह सिर्फ किताबी ज्ञान से संभव नहीं ! अगर हम वास्तविकता को समझें तो इस आधार पर शिक्षा के दो घटक होते हैं : एक आपको सिखाता है कि जीविका कैसे बनाई जाए, और दूसरा सिखाता है कि जीवन जिया कैसे जाए। दोनों ही एक दूसरे के बिना अधूरे हैं। ऐसे में शैक्षणिक (किताबी) अध्ययन के अलावां सह-पाठ्यक्रम गतिविधियों का भी शिक्षा के अंतर्गत महत्वपूर्ण योगदान है ! और आज के समय में तो इसमें बेहतरीन भविष्य निर्माण की अपार संभावनाएं छुपी है ! इसी सन्दर्भ में, आज हम लेकर आये हैं,  “बच्चों के लिए अतिरिक्त पाठयक्रम गतिविधियों की जानकारी, जो उनके बेहतर कैरियर के निर्माण में सहायक होंगी”!

सही मायने में शैक्षणिक अध्ययन के साथ साथ अतिरिक्त पाठयक्रम गतिविधियाँ, दोनों ही एक इंसान के संपूर्ण व्यक्तित्व को उभारने में सहायक होती है, क्योंकि यह दोनों ही मिलकर किसी भी इंसान के जीवन का एक मजबूत आधार बनाती है। एक छात्र के लिए इस प्रभावी संतुलन को कायम रखना तभी संभव हो सकता है जब उसे, उसमें माता-पिता के साथ-साथ एक अच्छे शिक्षक का भी सहयोग मिले, क्योंकि ये दोनों ही बच्चे को जीवन में महत्वपूर्ण फैसले लेने में सक्षम बनाते हैं।

हालांकि आज के समय में पहले की तरह शिक्षा व्यवस्था नहीं रह गयी है ! पहले के समय में जहाँ सिर्फ किताबी अध्ययन पर जोड़ दिया जाता था, यहाँ तक की हम तो अपने घरों में ये भी सुनते थे की “पढोगे लिखोगे तो बनोगे नबाब और खेलोगे कूदोगे तो होंगे ख़राब” ! लेकिन आज के ज़माने में यह बिलकुल बदल गया है ! अब पेरेंट्स का भी अतिरिक्त पाठयक्रम गतिविधियों के बारे में वह मत नहीं रह गया है ! आज पेरेंट्स भी चाहते हैं की उनका बच्चा किसी न किसी तरह की Habitual Activity को सीखे ! साथ ही कई स्कूल इन बातों पर विशेष ध्यान देते हुए आज अपने छात्रों के संपूर्ण व्यक्तित्व को विकसित करने हेतु गंभीर प्रयत्न कर रहें हैं, क्योंकि इससे उन्हें जीवन में एक ऊँचा मुकाम हासिल करने की काबिलयत प्राप्त होती है।

इसी कारण, स्कूलों में अब अध्ययन के साथ-साथ विभिन्न प्रतियोगिताओं और खेल प्रतिस्पर्धाओं के लिए भी छात्र/छात्राओं को तैयार किया जा रहा है। इससे छात्र कई विशिष्ट क्षेत्रों में अपना हूनर दिखा पाने में सक्षम बन रहे हैं। आज के समय में कोई स्कूल कितना अच्छा है, यह इसी बात से तय किया जाता है कि वो पढ़ाई के साथ-साथ कितनी अच्छी सह-पाठ्यक्रम गतिविधियाँ अपने छात्रों को उपलब्ध करा सकता है।

लेकिन आज भी ग्रामीण क्षेत्रों में अथवा कई शहरी क्षेत्रो में भी जानकारी के आभाव में स्कूलों में इस तरह की सुविधायें नहीं उपलब्ध हैं ! और यदि हैं भी तो बच्चों के माता पिता जानकारी के आभाव में बच्चों के अंदर इस तरह की योग्यताओं को नहीं विकसित करना चाहते ! ऐसे में उन्हें जानने और समझने की जरुरत है की आज के वक़्त में बच्चों के लिए जितनी जरुरी किताबी ज्ञान है उतना ही जरुरी अतिरिक्त पाठ्यक्रम गतिविधियों का ज्ञान भी है !

ऐसे में पेरेंट्स को चाहे की वह अपने बच्चों के इंटरेस्ट के अनुसार उनको अतिरिक्त पाठ्यक्रम गतिविधियों की भी ट्रेनिंग दिलवाएं या उसे खुद से सिखाएं ! यदि आपका बच्चा कुछ अलग कर रहा है या अलग करना चाह रहा है तो उसपर अपनी महत्वाकांक्षाओं को थोपने की बजाये उसे खुला आकाश दें, उसे प्रोत्साहित करें, ताकि वह खुद से अपनी तक़दीर लिख सके !

आजकल तो भाषण से लेकर अभिनय, सिंगिंग, डांस, घुड़सवारी, आर्ट, चित्रकला और इनडोर/आउटडोर खेल जैसे चेस, वॉलीबाल, फुटबॉल तथा क्रिकेट आदि हर क्षेत्रों में असीमित और अपार सम्भावनायें हैं ! ऐसे में आप भी अपने बच्चे की रूचि के अनुसार इन एक्टिविटीज में किसी एक को अपने बच्चे के जीवन का हिस्सा बनने दें और इसमें आप उसकी मदद करें। बच्चे की पढ़ाई के साथ साथ उसे अन्य सकारात्मक और रचनात्मक गतिविधियों के लिए भी प्रोत्साहित करें। बस इतना जरूर ध्यान रखें कि बच्चे पर किसी काम को लेकर कोई दबाब नहीं डाला जाए। जिस कार्य में या क्षेत्र में उसकी रुचि है, उसी में आगे बढ़ने के लिए उसे प्रोत्साहित करें।

शिक्षा के साथ-साथ अन्य रचनात्मक गतिविधियों का यह मिश्रण आपके बच्चे को जीवन में एक सफल इंसान और विजेता बनने में मददगार साबित होगा। इस संतुलन को अपने बच्चे में विकसित कर के, आप समाज और देश को एक अच्छा छात्र ही नहीं बल्कि एक अच्छा उम्मीदवार, एक अच्छा व्यवसायी तथा एक अच्छा इंसान दे पाएंगे।

हम उम्मीद करते हैं की आपको हमारा ये संकलन पसंद आया होगा ! और यदि आप हमे कोई सुझाव देना चाहते हैं अथवा हमसे कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स के माध्यम से दे अथवा पूछ सकते हैं ! धन्यवाद् !!

SHARE
Previous articleभारत में उपलब्ध 2018 के बेहतरीन स्मार्ट स्पीकर्स की सम्पूर्ण जानकारी !
Next articleआज के युग में आखिर टेक्नोलॉजी हमारे लिए इतना महत्वपूर्ण क्यों हैं ?
नमस्कार...!! इस खूबसूरत संकलन को आपलोगों के समक्ष ज्ञानवाटिका संपादन टीम के द्वारा प्रस्तुत किया गया है, जिसके प्रधान सम्पादक और एडमिन विकास कुमार तिवारी जी हैं. इस खूबसूरत संग्रह को बनाने और आपके समक्ष लाने में कई दिन और कई रातों का सतत प्रयास शामिल है, और हम आगे भी इसी निष्ठा से आपके समक्ष महत्वपूर्ण तथा अनमोल जानकारियों को संकलित कर प्रस्तुत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं...! इसके साथ ही हम इस बात के लिए भी आशान्वीत हैं की आप सभी अपना महत्वपूर्ण सुझाव देकर, इस खूबसूरत संकलन को और खूबसूरत बनाने में हमारी मदद अवश्य करेंगे !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here